Subscribe to Buxar upto Date News:
  • Breaking News

    संघर्ष मोर्चा ने नैनीजोर अग्नि पीड़ितो के बीच, की राहत सामग्री वितरित

    बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :- डुमरांव जिला बनाओ संघर्ष मोर्चा ने ब्रह्मपुर प्रखंड के नैनीजोर गांव में अग्नि पीड़ित लगभग 200 परिवारों के बीच राहत सामग्री वितरित किया ।
              प्रकृति की विवशता झेल रहे इन बेबस परिवारों के बीच मोर्चा का यह कदम उन भूखे नंगे लोगों के लिए किसी दैवीय कृपा से कम नहीं थी । क्योंकि लगभग एक सप्ताह पूर्व लगे भीषण अग्निकांड में अपना सबकुछ गंवा चुके इन परिवारों के लिए सरकारी तथा गैर सरकारी स्तर पर किसी भी तरह का कोई इंतजाम नहीं किया गया । लोकसभा चुनाव कराने में व्यस्त स्थानीय प्रशासन द्वारा सिर्फ एक  दिन खिचड़ी की व्यवस्था की गई थी । वहीं आदर्श आचार संहिता के चलते खुले स्तर पर किसी राजनीतिक दलों ने इनकी पूछ नहीं ली ।
                डुमरांव जिला बनाओ संघर्ष मोर्चा द्वारा अग्निकांड पीड़ितों को फौरी राहत के तौर पर डुमरांव से दो ट्रैक्टरों से राहत सामग्री ले जाकर वितरित किया गया । जिसमें 180 थाली, 180 लोटा, 150 धोती, 150 गमछा, 3 क्विंटल मुरी, 2 क्विंटल देशी गुड़ की भेल्ली, तथा अन्य खाद्य सामग्री शामिल था ।
             इसके अलावा समाजसेवी तथा मोर्चा के संरक्षक मंडल में शामिल शिक्षाविद् डा रमेश सिंह ने अग्नि पीड़ित परिवारों के बच्चों के बीच किताब, कॉपी, पेन, पेंसिल, स्कूल ड्रेस तथा अन्य वस्त्रों को वितरित किया ।
               आग की लहरों में अपना सबकुछ गंवा चुके इन गरीब परिवारों के लिए यह राहत कोई विशेष तो नहीं लेकिन खुले आसमान के बीच तटबंध पर रह रहे लोगों के लिए कुछ राहत भरी जरूर थी । लोग मोर्चा के पदाधिकारियों से अपने जल चुके आशियानों एवं अरमानों के बारे में बताते बताते गमगीन हो जा रहे थे । इस भीषण अग्निकांड में किसी ने अपना धन खोया तो किसी ने अपना जन । कितने परिवारों के लिए जीवकोपार्जन का मुख्य साधन बन गए मवेशी भी काल के गाल में समा गए । वहीं अभी भी कुछ लोग आरा अस्पतालों में जीवन और मौत के बीच जंग लड़ रहे हैं । अपनी बिटिया की शादी के लिए वर्षों से जोड़ - जोड़ कर एक - एक पैसा इकट्ठा करके करीब चार लाख रुपया जुटाए माता - पिता का सपना मिनटों में ही टूट गया जब उन्हें पता चला कि उनका रखा सारा पैसा अब राख की ढेर बन चुका है ।
             डुमरांव जिला बनाओ संघर्ष मोर्चा ने इन असहाय और बेबस परिवारों को राहत के लिए एक प्रयास किया जो आज के सामाजिक और राजनीतिक जीवन जी रहे लोगों के लिए एक नजीर पेश करता हुआ प्रतीत हो रहा है कि सार्वजनिक जीवन में हम सभी को अपने सामाजिक जीवन के निर्वहन के साथ साथ मानवीय पक्षों के हर पहलुओं का भी बोध होना चाहिए क्योंकी मानवता से बड़ा कोई धर्म नहीं होता और मानव सेवा से बड़ी कोई पूजा नहीं होती है । क्योंकि सबसे पहले हम सभी मानव हैं और मानवता हमारा कर्तव्य ।

                इस अवसर पर उपस्थित लोगों में डुमरांव जिला बनाओ मोर्चा के अध्यक्ष कमलाकांत सिंह यादव, मोर्चा के प्रवक्ता सह मीडिया प्रभारी राजीव रंजन सिंह, स्थानीय निवासी तथा मोर्चा के वरिष्ठ सदस्य समाजसेवी राजकुमार कुंवर, डुमरांव जिला बनाओ संघर्ष मोर्चा के महासचिव सह कोषाध्यक्ष मिथिलेश राय, भारतीय रेडक्रॉस सोसायटी जिला  उप शाखा डुमरांव के मानद सचिव शत्रुघ्न प्रसाद गुप्ता उर्फ मोहन जी, अमरेन्द्र पांडेय, पंडित सुधाकर मिश्रा, राकेश सिंह, छात्र नेता दीपक यादव, कामेश्वर सिंह उच्च विद्यालय के निदेशक तथा मोर्चा के सक्रिय सदस्य रविशंकर सिंह, रमेश कुमार सिंह, संटू मित्रा, आंदोलनकारी धनंजय पांडेय, निहार रंजन "चिंटू", संजय तिवारी, कबीर तिवारी, मैनेजर यादव, चंदन कुंवर सहित नैनी जोर के पूर्व सरपंच सहित अन्य ग्रामीण उपस्थित थे ।
    https://drive.google.com/file/d/1R8rvtPijg0C4duKxbK6hUoCoqtU3ZuQ5/view