Subscribe to Buxar upto Date News:
  • Breaking News

    अभाविप कार्यकर्ता मनाया बाबा साहेब की जयंती

    बक्सर अप टू डेट न्यूज़ :-अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद डुमराव इकाई के कार्यकर्ताओं द्वारा स्थानीय कार्यालय पर बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाया गया कार्यक्रम का शुरुआत बाबा साहब के तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए किया गया कार्यक्रम के उपरांत एक सभा का आयोजन किया गया सभा को संबोधित करते हुए विद्यार्थी परिषद के विभाग संयोजक दीपक यादव ने कहा कि बाबा साहब भारतीय संविधान निर्माता और कानून के ज्ञाता होने के साथ-साथ एक राष्ट्रवादी चिंतक भी थे उनकी सबसे बड़ी चिंता भारत के दलित और अछुतों की बेड़िया काटना एव समाज में उन्हें सम्मान दिलाना इस विषय पर उन्होंने किसी से समझौता नहीं किया जब 1932 में अंग्रेजी हुकूमत हिंदू समाज को बांटना चाहती थी तो पिछड़ों के लिए अलग मतदाता सूचियों का व्यवस्था करके अंबेडकर ने मदन मोहन मालवीय और गांधीजी से सहमति जताते हुए समझौता किया था गांधी जी इसके विरोध में यरवदा जेल में भूख हड़ताल आरंभ कर दी थी और सच है तो उन्होंने अपनी जान की बाजी लगा दी थी आमरण अनशन करके अंबेडकर को भी समाज का इस प्रकार बाटना बर्दाश्त नहीं था और उन्होंने दलितों के हितों की रक्षा करते हुए हिंदू एकता को बनाए रखा बाबा साहब वास्तव में महात्मा गांधी और मोहम्मद अली जिन्ना दोनों के विरोध से सहमत थे वह समान नागरिक संहिता के पक्षधर थे और कश्मीर के मामले में धारा 370 का विरोध करते थे अंबेडकर का भारत आधुनिक वैज्ञानिक सोच और तर्कसंगत विचारों का देश होता नेहरू से मतभेद के कारण उन्हें कैबिनेट से त्यागपत्र देकर 1952 का चुनाव लड़ा था लेकिन आहसान फरामोश लोगों ने अंबेडकर का साथ नहीं दिया और वह हार गए उनका जीवन इस बात का सबूत है कि आरक्षण की बैसाखी के बिना भी आगे बढ़ा जा सकता है बस संघर्ष करने की क्षमता चाहिए मौके पर नगर मंत्री लक्ष्मण कुमार प्रदेश कार्यसमिति सदस्य संटू मित्रा समेत कई वक्ताओं ने अपने विचार रखा मौके पर अरविंद यादव, कृष्ण मोहन ,हिमांशु कुमार , नारायण सिंह, सत्यम कुमार , अमृतांशु भगत  ,राहुल कुमार समेत कई लोग मौजूद रहे
    https://drive.google.com/file/d/1R8rvtPijg0C4duKxbK6hUoCoqtU3ZuQ5/view